नया रायपुर स्थित जंगल सफ़ारी के बारे में जरूर जानें ये बातें

छत्तीसगढ़ के जंगलों में वन्यजीवों की विभिन्न प्रजातियाँ मौजूद हैं। परंतु प्रौद्योगिकी और मानवीय जरूरतों के चलते राज्य ने कुछ जंगली प्रजातियों को खो दिया है। वर्तमान में एनआरडीए की कोशिश है कि नया रायपुर में मानव और वन्यजीवन के बीच सामंजस्यपूर्ण वातावरण का निर्माण किया जा सके। इसका सबसे बड़ा उदाहरण है नया रायपुर स्थित जंगल सफ़ारी। यह सफ़ारी वन्यजीवों को संरक्षण प्रदान करेगा। बहुत कम सफ़ारी हैं जो शहर के इतने करीब मौजूद हों।

लोकेशन:

नया रायपुर स्थित जंगल सफ़ारी का नाम ‘नंदनवन’ है। यह रायपुर रेलवे स्टेशन से तकरीबन 30 किमी की दूरी पर स्थित है। स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट से मात्र 15 किमी और रायपुर बस स्टेंड से मात्र 35 किमी दूर है। 200 हेक्टेयर में फैला यह सफ़ारी खंडवा बांध की परिधि में स्थित है।

जंगल सफ़ारी का उद्देश्य:

भारत के पहले हरित स्मार्ट शहर में जंगली जीवों के लिए रिजर्व के निर्माण का उद्देश्य बदलते भारत और भविष्य के भारत की झलक दिखाना है। एक ऐसा स्मार्ट शहर जो मानव और जंगली जानवरों के बीच सामंजस्यपूर्ण वातावरण निर्मित करता है। ऐसे वाइल्डलाइफ सफ़ारी के माध्यम से छत्तीसगढ़ में वन्यजीवों की विभिन्न प्रजातियों को संरक्षण दिया जा सकेगा।

जंगल सफ़ारी के प्रमुख उद्देश्य इस प्रकार हैं-

  • नया रायपुर में लोगों के लिए वाइल्डलाइफ एजुकेशन, रिसर्च और एम्यूजमेंट सेंटर उपलब्ध कराना।
  • छत्तीसगढ़ और दुनियाभर से आने वाले पर्यटकों के लिए वन्यजीव संरक्षण प्रणाली का निर्माण।
  • राष्ट्रीय स्तर पर वन्यजीव संरक्षण कार्यक्रम के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दर्शाना।

क्षेत्र विभाजन:

नया रायपुर का यह जंगल सफ़ारी एशिया का सबसे बड़ा मानव निर्मित जंगल सफ़ारी है। 202 हेक्टेयर क्षेत्र में फैले नंदनवन जंगल सफ़ारी को 8 भागों में विभाजित किया गया है। आइए नजर डालिए जंगल सफ़ारी का जोन विभाजन!

  1. स्मारक क्षेत्र-

इस जोन में देश और राज्य की मूल विरासत को सहेजने की कोशिश की जा रही है। यहाँ देश और राज्य की विरासत से जुड़ी संरचनाओं को रखा गया है।

  1. पार्किंग क्षेत्र-

यहाँ पार्किंग की समुचित व्यवस्था उपलब्ध है। यहाँ मौजूद वृहद पार्किंग क्षेत्र में 300 कारों, 100 बसों और 640 मोटर साइकलों और स्कूटरों को रखा जा सकता है।

  1. प्रशासनिक क्षेत्र-

इस क्षेत्र में जंगल सफ़ारी के प्रबंधन के लिए नियुक्त अधिकारी व कर्मचारियों का निवास क्षेत्र बनाया गया है।

  1. जल क्षेत्र-

जल क्षेत्र में बड़े जलाशय और फ्लोटिंग गार्डन आदि हैं। यहाँ पक्षियों को निहारने के लिए भी अलग क्षेत्र निर्धारित किया गया है।

  1. प्रतीक्षा क्षेत्र-

यह मुख्य रूप से मनोरंजन के लिए रखा गया है। यहाँ एम्फिथिएटर, फ्लोटिंग डेक, पार्क, कैंटिन, भोजन स्टाल आदि सुविधाएँ रखी गयी हैं।

  1. चिड़ियाघर-

यहाँ विभिन्न प्रजातियों के जीवों को रखा गया है। इन जीवों के संरक्षण की पूरी व्यवस्था इस क्षेत्र में की गयी है।

  1. प्रबंधन-

इस क्षेत्र में पर्यटकों और आगंतुकों का प्रवेश निषेध किया गया है। यह क्षेत्र सफ़ारी के प्रबंधन कर्मचारियों के लिए रखा गया है। इसे कार्यालयीन क्षेत्र भी कह सकते हैं। इसमें पशु चिकित्सा अस्पताल, बचाव केंद्र, संरक्षण और प्रजनन केंद्र मौजूद हैं।

  1. सफ़ारी क्षेत्र-

नया रायपुर में नंदनवन या जंगल सफ़ारी का सफ़ारी क्षेत्र मुख्य आकर्षण है। यहाँ आने वालों के लिए सफ़ारी वैन उपलब्ध हैं जो पूरे जंगल का भ्रमण कराती है। इस भ्रमण के माध्यम से आप जंगली जानवरों को उनके प्राकृतिक निवास स्थान में स्वतंत्र रूप से घूमते हुए आसानी से देख सकते हैं।

इस क्षेत्र को फिर से 4 क्षेत्रों में विभाजित किया गया है

  1. हरबीवोर सफ़ारी
  2. बीयर सफ़ारी
  3. लायन सफ़ारी
  4. टाइगर सफ़ारी

तो अगली बार जब भी आपके बच्चे चिड़ियाघर जाकर जंगली जानवरों को देखने की जिद करें तो नया रायपुर आने की योजना जरूर बनाइए। चिड़ियाघर के पिंजरों में कैद जंगली जानवरों को देखने से अच्छा है कि उन्हें जंगल में विचरते वन्यजीवों का साक्षात्कार कराएँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *